Search Engine क्या है और कैसे काम करता है?

Search Engine क्या है एवं कैसे काम करता है?

नमस्कार दोस्तों एक बार फिर से स्वागत है  आपका आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि “SEARCH ENGINE क्या है एवं सर्च इंजन कैसे काम करता है?” दोस्तों जैसा कि आप लोगों पता ही होगा कि हम लोग रोजाना गूगल पर कुछ ना कुछ अपने Mobile या computer में सर्च करते रहते हैं इस प्रकार हम सभी जानना चाहते हैं कि गूगल का सर्च इंजन क्या होता है तो दोस्तों आज हम इस विषय पर ही बात करने वाले हैं पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़ें।

दोस्तों अगर सर्च इंजन नहीं होता है तो इंटरनेट पर आपको सटीक जानकारी दिल्ली में बहुत बड़ी कठिनाई का सामना करना पड़ता है लेकिन यह आपके लिए कुछ सेकंड में ही हमारे सामने लाखो रिजल्ट्स लेकर आपके सामने आ जाता है आप किस तरह से सर्च इंजन गूगल पर सर्च कर सकते हैं जो निम्न प्रकार है।

टेबल

  • Search engine क्या होता है?
  • what is search engine in hindi
  • सर्च इंजन कितने प्रकार के होते हैं?
  • गूगल पर सर्च इंजन कैसे करते हैं?
  • Search engine kaam kaise karta hai,
  • सर्च इंजन किस तरह काम करता है
  • indian search engine,
  • Top search engine in the world in hindi,
  • top 5 search engine,

Best Search सर्च इंजन क्या है?

आप लोगों को कुछ भी खरीदना हो किसी अन्य शहर में लोकेशन जाननी हो आपके आसपास होटल की जानकारी प्राप्त करना हो सब कुछ आपके सामने कुछ सेकंड के लिए हाजिर हो जाता है इस तरह आप लोगों को कहीं भी जाने की जरूरत नहीं पड़ती है आप घर बैठे ही किसी भी चीज के बारे में नॉलेज ले सकते हैं। लेकिन क्या दोस्तों आपने कभी सोचा है कि यह सब कुछ कैसे होता है सर्च इंजन किस तरह काम करता है क्या हमारे भारत के पास भी कोई सर्च इंजन है तो हम आप पोस्ट में इस सब के बारे में जानेंगे।

Search engine क्या होता है?

सर्च इंजन इंटरनेट पर आधारित एक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है इंटरनेट पर हम लोगों को मौजूद सभी जानकारी को देता है इस प्रकार इंटरनेट पर सभी मौजूद जानकारी यूजर की Query के आधार पर दिखाता रहता है जिस प्रकार Google, Bing, Yahoo आप लोग इन पर सभी जानकारी सर्च कर सकते हैं।

Google AdSense का Approval कैसे लें 2022

World wide wave की जानकारी का एक बहुत बड़ा भंडार होता है जहां पर आप लोग दुनिया की सभी वेबसाइट की इनफॉरमेशन अवेलेबल होती हैं ऐसे में हम लोग अपने वेब ब्राउज़र में कोई भी सवाल या फिर कीवर्ड्स इंटरनेट पर सर्च कर सकते हैं सर्च इंजन कीबोर्ड आप लोगों के लिए आपके सवाल में मौजूद कीवर्ड आधारित हुई सभी वेबसाइट के रिजल्ट को अपने सर्च इंजन में दिखाता है जिनमें आप लोगों के सभी समाज से जुड़ी जानकारी उपस्थित होती है।

सर्च इंजन क्या होता है, सर्च इंजन कितने प्रकार के होते हैं, गूगल पर सर्च इंजन कैसे करें, सर्च इंजन कैसे काम करता है,

इस प्रकार आप लोग जान गए होंगे कि सर्च इंजन कितने पावरफुल हो सकती हैं और आप लोगों के सर्च इंजन करते ही कुछ ही सेकंड में आपके पास लाखों रिजल्ट उपलब्ध हो जाते हैं क्योंकि दोस्तों है लगातार इंटरनेट पर मौजूद सभी सवालों का जवाब वेबसाइटों और वेब पेजेज को Crawl करके उन सब को इंडेक्स करती रहती हैं और उन सबको एक कैटेगरी के हिसाब से आधार पर रखते हैं।जिससे जब भी कोई व्यक्ति कुछ सर्च करता है तो वह रिजल्ट प्राप्त होने में ज्यादा समय नहीं लगता है आपके सामने जल्दी से ही आपकी से रिलेटेड बेस्ट रिजल्ट अच्छी तरीके से उपलब्ध हो जाता है।

Search engine काम कैसे करता है?

चलिए दोस्तों अब हम जानेंगे कि आखिरकार कैसे काम करेगा और सर्च इंजन क्या होता है यह जानना हम लोगों के लिए काफी नहीं होता है लेकिन हर सर्च इंजन बेस्ट रिजल्ट दिखाने के लिए आप लोगों के पास अपना अलग मेथड यूज करना है। जिसे हम लोग Algorithm कह सकते हैं और यह Algorithm टाइम टाइम पर बहुत जल्दी जल्दी से अपडेट होता रहता है।

दोस्तों जिससे रैंकिंग फैक्टर के सीक्रेट्स डाक्यूमेंट्स किसी को आसानी से पता ना लग जाए और कोई भी व्यक्ति हूं का गलत फायदा ना होता सके यही Algorithm इस बात पर निर्धारित करता है। कि कौन सा वेबसाइट ऊपर रहेगी और कौन सी ही उसके बाद जरूरी नहीं वेब पेज याहू मे डॉक्टर होता है। तो गूगल में भी टॉप पर ही रहेगा क्योंकि दोस्तों सर्च इंजन की Algorithm बिल्कुल अलग होता है।

लेकिन दोस्तों आमतौर पर कहे तो सर्च इंजन तीन चरणों में वर्क करता है जो इस प्रकार है?

1.Crawling

2.Indexing

3.Ranking

इस नाम से दुनिया भर में जाने जाते हैं

1.Crawling क्या होता है?

दोस्तों यह प्रोसेस मैं सर्च इंजन इंटरनेट पर अवेलेबल जानकारी को इकट्ठा करता रहता है इसके लिए एक Web crawler का यूज करता है और इन्हें दोस्तों स्पाइडर के नाम से भी हम जानते है। हे दोस्तों सर्च इंजन के द्वारा डेवेलोप सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होती है जो किसी भी वेबसाइट के कंटेंट को उसके यूआरएल द्वारा खोजते रहते हैं। अगर आप लोग इस वेबसाइट के पेज को स्कैन करती हो कोई समय वेबसाइट के बारे में पूरी जानकारी होना बहुत ही निर्भर है। जैसे, टाइटल्स,कीवर्ड्स उनमें से कुछ फोटो और वीडियो है या नहीं पोस्ट पर कितने leaks हुए हैं।

यह सब जानकारी को एकत्रित करता है और यह सेकंड में हजारों लाखों पेज web crawler स्कैन कर सकता है। यदि आप लोगों को किसी पेज पर लिंक दिखता है। आपको उसे वाले लिंक को स्कैन कर लेना होगा इस प्रकार लोग समय-समय पर कॉल करते रहते हैं और फिर से web site उस page को द्वारा से Re-crawl करता है। यह सब काम सर्च इंजन पर निर्भर करता है।

2.Indexing क्या होता है?

इस indexing मैं कॉलिंग से प्राप्त डाटा को प्रोसेसिंग करके सर्च इंजन को डेटाबेस में स्टोर कर लेता है जिससे जब भी आप लोग कुछ भी सर्च करना चाहते हैं तो उसकी Query के जरिए से एक ग्रेट रिजल्ट बहुत ही जल्दी से दिखाया जा सकता है। जानकारी के लिए बता दें इंडेक्सिंग में भी कीवर्ड,पेज टाइटल,आपकी वेबसाइट कितनी भी ओल्ड हो इंफॉर्मेशन के आधार पर इंडेक्स किया जाता हो तो जब भी आप लोग कोई Query सर्च करती है तो इस सर्च इंजन में डेक्स इंडेक्स मोस्ट रेलीवेंट पेजों को आपके सामने दिखाया जाता है।

3.Ranking क्या होता है?

दोस्तों यह भी इस प्रोसेसिंग का सबसे अंत और सबसे महत्वपूर्ण पॉइंट होता है इस स्टेट में सर्च इंजन को सुरक्षित किया जाता है कि यूजर द्वारा सर्च किया गया सवाल को कीवर्ड के आधार पर कौन सा पेज सर्च करना है और कौन सा नहीं इस प्रकार दोस्तों यह search engine result page और किस किस क्रम में दिखाया जा सकता है। यह हम लोगों को सारी तरह से उस वेबसाइट या पेज की क्वालिटी और लोगों की एक्सपीरियंस,और विश्वसनीय वेबसाइट हो सकती है। इन सभी चीजों पर आधारित करता है।

सर्च इंजन पहला कौन सा होता है?

दोस्तों सर्च इंजन कितने प्रकार के होते हैं और सर्च इंजन की काम करने की आधार पर हम चार मुख्य भाग में बांटा जा सकता है जो निम्न प्रकार हैं।

1.Crawler-based search engine

2.Web directories

3.Hybrid search engine

4.Meta search engine

तो हम लोग इन चारों के बारे में एक-एक करके पूरी विस्तार पूर्वक जानेंगे।

1.Crawler search engine- यह क्रोल पर आधारित सर्च इंजन या स्पाइडर का यूज करके इंटरनेट को सेंड किया जाता है और यह स्पाइडर कंप्यूटर प्रोग्राम है जो प्रत्येक देव पेज पर जाकर कीवर्ड का पता लगाता है और वेब पेज को सर्च इंजन की डाटा स्पेस में ऐड कर देता है जैसे गूगल याहू क्रॉल निम्न प्रकार।

2. Web Directories- चीजों को मैनुअली मैनेज करता है और यहां पर बहुत सारी वेबसाइटों की नॉलेज मिलती है और इसी प्रकार वेबसाइटों को उन्हीं की कैटेगरी के हिसाब से लिस्ट में किया जाता है जब आप लोग कोई साइड मालिक अपनी वेबसाइट पर आप लोगों से सम्मिट करवाता है तू एडिटोरियल स्टाफ इन सब को मैनुअली चेक करता है यदि मालिक के द्वारा दी गई नॉलेज आपको सही है तो वेबसाइट को लिस्ट में कर देते हैं अन्यथा उस वेबसाइट को रिजेक्ट कर देते हैं इसी प्रकार इन हम डायरेक्ट ली सर्च इंजन कह सकते हैं।

3. Hybrid search engine- आप लोग इतने नाम से ही जान गई होगी कि इसमें Crawler और डायरेक्टरी सिस्टम को मिलाकर काम किया जाता है क्योंकि बहुत सी जगहों पर ह्यूमन रिसोर्स की भी आवश्यकता होती है जिस प्रकार सर्च रिजल्ट्स डुप्लीकेट रिजल्ट को हटा देते हैं इसको चेक करने के लिए Crawler का बहुत ज्यादा यूज किया जाता है इसी प्रकार याहू हाइब्रिड की सब कैटेगरी में आती रहती हैं।

4.Meta search engine- वह सर्च इंजन होता है जो बहुत सारी सर्च इंजन से डाटा लाकर व्यक्ति को दिखाते हैं जब कोई भी व्यक्ति अपना इंजन पर सर्च करता है इस सब के बाद रिजल्ट को व्यक्ति के सामने फिल्टर करके लिस्ट के तौर पर आसानी से दिखाते हैं। प्रकार से यूजर्स अलग-अलग तरह से सर्च करते रहते हैं।

मैं आशा करता हूं कि अब आप लोग सारी प्रोसेसिंग के बारे में समझ गए होंगे अब आप लोगों को सर्च इंजन के बारे में कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि हमने आप लोगों को SEARCH ENGINE क्या होता है? और यह कैसे काम करता है सब के बारे में पूरी डिटेल पूर्वक जानकारी दे दी है तो आप लोगों को अगली नेक्स्ट पोस्ट के लिए बहुत धन्यवाद।U

Leave a Comment